रोहिताश्व गौड़ एण्डटीवी के लोकप्रिय शो ‘भाबीजी घर पर हैं‘ में अपने मशहूर किरदार मनमोहन तिवारी के चलते सबके चहेते बन चुके हैं। उन्होंने टेलीविजन और बाॅलीवुड में अपना एक अलग मुकाम बनाया है। उनकी बेजोड़ काॅमिक टाइमिंग ने मनोरंजन उद्योग के एक प्रतिभाशाली कलाकार के तौर पर उन्हें मजबूती से स्थापित किया है। गौड़ ने हाल ही में राजकुमार हीरानी की फिल्म डंकी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और इसमें वे एक धोखेबाज वीजा एजेंट के किरदार में नजर आये। एक बेबाक बातचीत में उन्होंने विस्तार से बताया है कि उन्हें यह भूमिका कैसे मिली।

शाहरुख खान की फिल्म से जुड़ने के बारे में रोहिताश्व गौड़ ने बताया, ‘‘यकीन करना मुश्किल है, लेकिन यह मेरे लिये सबसे महत्वपूर्ण मौकों में से एक बन गया, और इसके लिए मुझे बहुत कम इंतजार करना पड़ा। दिलचस्प बात यह है, कि यह सब एक ही दिन में हो गया। मैं नायगांव में अपने शो ‘भाबीजी घर पर हैं’ की शूटिंग कर रहा हूँ। लगातार सफर करने से बचने के लिये मैं आमतौर पर सेट के पास के एक अपार्टमेंट में ठहरता हूँ और सिर्फ छुट्टी के दिनों में अपने घर गोरेगांव जाता हूँ। हमें अगले दिन शूटिंग करनी थी, लेकिन मुझे सुबह ही खबर मिली कि सेट पर एक हफ्ते की छुट्टी है। मैंने सोचा कि इस वक्त का इस्तेमाल घर जाकर अपने परिवार के साथ बिताने के लिये करना चाहिये। रास्ते में मुझे राजकुमार हीरानी जी का काॅल आया और उन्होंने पूछा कि मैं क्या कर रहा हूँ। मैंने उन्हें बताया कि मैं घर जा रहा हूँ और उन्होंने ज्यादा कुछ कहे बिना मुझे सीधे गोरेगांव की फिल्मसिटी में बुलाया। वहाँ जाने पर मैं एक बड़ा सेट देखकर चैंक गया, जहाँ हजारों लोग थे। फिर मिस्टर हीरानी ने बताया कि वे पंजाब के एक जाने-माने थियेटर आर्टिस्ट के साथ एक दृश्य की शूटिंग करने वाले थे, लेकिन किसी कारण से वह अपना किरदार निभाने नहीं आ पाया। वह फिल्म की शूटिंग का पहला दिन था और मिस्टर हीरानी प्रोडक्शन को रोकना नहीं चाहते थे। चूंकि वह फिल्म का पहला दिन था और राजकुमार हीरानी जी कोई बाधा नहीं चाहते थे, इसलिये उन्हें तुरंत मेरा खयाल आया, क्योंकि हम पहले भी साथ में काम कर चुके थे। फिर राजू सर ने मुझे अपनी फिल्म ‘डंकी’ में लालटू का रोल दिया, जोकि एक नकली पंजाबी वीजा एजेंट है। मैंने खुशी से वह भूमिका स्वीकार कर ली। उन्होंने मुझे किरदार और सीन के बारे में समझाया, ताकि मैं पंजाबी उच्चारण का अभ्यास कर सकूं। शूटिंग के बाद राजकुमार जी ने मेरे घर एक बड़ा-सा गुलदस्ता भेजा और अपना आभार जताया। उनका यह तरीका मुझे बेहतरीन लगा।’’

राजकुमार हीरानी के साथ अपने ताल-मेल के बारे में उन्होंने बताया, ‘‘मैं उनसे पहली बार 1997 में मिला था, जब डीडी1 पर उनके एक शो का आॅडिशन देने मुंबई आया था। दुर्भाग्य से वह शो कभी पर्दे पर नहीं आ सका। हालांकि राजकुमार ने भविष्य में अपने प्रोजेक्ट्स के लिये मुझे आश्वासन दिया था और ‘डंकी’ ऐसा ही एक प्रोजेक्ट रहा। मैंने हीरानी जी के साथ उनकी मशहूर एंथोलाॅजी सीरीज ‘द बेस्टसेलर्स’ में काम किया था और उसमें मेरी मुख्य भूमिका थी। तब से हमारा रिश्ता मजबूत है। ‘डंकी’ के लिये शूटिंग के दिन का अनुभव खुशनुमा था। हीरानी जी ने मेरा परिचय फिल्म के लेखक अभिजात जोशी और अभिनेत्री तापसी पन्नू से करवाया। मुझे बहुत आश्चर्य हुआ, जब तापसी ने ‘भाबीजी घर पर हैं’ के लिये मुझे पहचाना और बताया कि उन्हें हमारा शो बहुत पसंद है। मैंने कल्पना भी नहीं की थी कि मुझे ऐसी बड़ी फिल्म में एक रोल मिलेगा और सब कुछ इतनी आसानी से हो जाएगा (हंसते हैं)। मेरे लिये वह सचमुच एक बेहतरीन संयोग और शानदार अनुभव था।’’

रोहिताश्व गौड़ को एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं’ में मनमोहन तिवारी की भूमिका में देखिये, हर सोमवार से शुक्रवार रात 10ः30 बजे!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *